You are currently viewing Blockchain Network in Hindi: How it works & types 2
Blockchain network in hindi

Blockchain Network in Hindi: How it works & types 2

Blockchain network से पहले आपने शायद ‘Blockchain’ के शब्द को सुना होगा, लेकिन क्या आप जानते हैं कि यह कैसे काम करता है और हमारे डिजिटल दुनिया को कैसे बदल रहा है? Blockchain network, जिसे आमतौर से ‘ब्लॉकचेन’ कहा जाता है, एक नई तकनीक है जो डेटा सुरक्षित, स्थिर, और सत्यपित बनाने का एक नया तरीका प्रदान कर रहा है।

Blockchain network में, डेटा एक ब्लॉक की तरह होता है और यह ब्लॉक एक बारीक तार के संरचना में जुड़ा होता है, जिससे उसे हैक करना या बदलना असंभव हो जाता है। इसका मतलब है कि जब एक गतिविधि होती है, तो इसे सभी नेटवर्क प्रतिभागियों के बीच साझा किया जाता है, जिससे सत्यापित हो जाता है और डेटा का विदेशी हस्तक्षेप होने की संभावना कम होती है।

Blockchain network का उपयोग क्रिप्टोकरेंसी जैसी वित्तीय लेन-देनों से लेकर समग्र सप्लाई चेन मैनेजमेंट तक कई क्षेत्रों में हो रहा है। इसकी उपयोगिता को देखते हुए, यह ब्रेडथ और सुरक्षा में वृद्धि करके नए डिजिटल युग का निर्माण कर रहा है। ब्लॉकचेन नेटवर्क के साथ, हम देख रहे हैं कि डेटा और लेनदेन को सुरक्षित रूप से बनाए जा रहे हैं, जिससे नई डिजिटल समृद्धि की ओर हम कदम बढ़ा रहे हैं।”

Table of Contents

Blockchain network एक तकनीकी तंत्र है जो अनुप्रयोगों को सुरक्षित रूप से जोड़कर स्मार्ट सेवाओं तक पहुंचने की अनुमति देती है। इसका काम सुरक्षित और सटीक लेन-देन को सुनिश्चित करना है। यह ब्लॉकचेन तंत्र का उपयोग करता है, जो स्वचालित रूप से लेन-देन और सौदों को प्रबंधित करने में मदद करता है। इसमें सभी पीयर नोड को संदेशों की सत्यापनी और सुरक्षित रूप से इनमेमोरीजेशन की क्षमता होती है।

Blockchain network से लेन-देन, खाता, भुगतान, उत्पादन और अन्य गतिविधियों को सुरक्षित रूप से ट्रैक किया जा सकता है। इसके फलस्वरूप, आप लेन-देन के सभी तथ्यों को देख सकते हैं क्योंकि सभी सदस्य एक ही सत्यापनी दृष्टिकोण को साझा करते हैं, जिससे आपको अधिक आत्मविश्वास और विश्वास होता है।

इसमें अंतिम उपयोगकर्ता के लिए एप्लिकेशन या Blockchain networkएडमिनिस्ट्रेटर द्वारा उपयोग किए जाने वाले अंतर्मुखी एप्स शामिल हैं। इसमें कई संगठन संघ बना सकते हैं, जो नेटवर्क का निर्माण करने के लिए समूह निर्माण करते हैं और उनकी अनुमतियाँ समूह द्वारा नियंत्रित होती हैं।

Blockchain network एक ऐसी तकनीक है जो लेनदेन को सुरक्षित, सुसंगत, तेज़, सस्ती, और छेड़छाड़ से मुक्त बनाती है। इसमें कुछ मुख्य विशेषताएं हैं:

तेज़: ब्लॉकचेन लेनदेन को सीधे प्रेषक से रिसीवर तक तेजी से पहुँचाती है, बिना किसी बिचौलियों की आवश्यकता के।

संगत: ब्लॉकचेन नेटवर्क पूरे विश्व में, 24 घंटे, 7 दिनों तक संगतता से काम करता है, इससे किसी भी समय सुरक्षित लेनदेन हो सकता है।

सस्ती: ब्लॉकचेन नेटवर्क को चलाने के लिए कम खर्च आते हैं, क्योंकि इसमें केंद्रीकृत मध्यस्थ नहीं होते, जिससे किराए पर लेने की आवश्यकता नहीं होती।

सुरक्षित: ब्लॉकचेन नेटवर्क नोड्स का वितरित नेटवर्क हमलों और आउटेज के खिलाफ सुरक्षा प्रदान करता है, जिससे सभी लेनदेन सुरक्षित रहते हैं।

छेड़छाड़-सबूत: ब्लॉकचेन में डेटा पूरी तरह से पारदर्शी होता है और एक बार रिकॉर्ड होने के बाद उसमें कोई बदलाव नहीं किया जा सकता, जिससे धोखाधड़ी और अन्य आपराधिक आचरणों के खिलाफ निष्ठार्थक हो जाता है। इसके बारे में सभी लोग सत्यापित लेनदेन को देख सकते हैं, जिससे सभी को विश्वास और सुरक्षा की भावना मिलती है।

Blockchain Network

Blockchain network, एक नई तकनीकी दिशा है जो डेटा सुरक्षित और प्रशासनिक बनाने के लिए इंटरनेट में एक क्रांति ला रही है। इसमें लेनदेनों को सुरक्षित रूप से रिकॉर्ड करने का नया तरीका है, जिससे आपकी डिजिटल गतिविधियों को बेहद सुरक्षित बनाया जा सकता है। एक ब्लॉकचेन नेटवर्क कई तरह से बनाया जा सकता है। वे सार्वजनिक, निजी, अनुमति प्राप्त या कंसोर्टियम नामक लोगों के समूह द्वारा निर्मित हो सकते हैं।

  • इसे हर कोई देख सकता है, लेनदेन कर सकता है, और शामिल होने की उम्मीद कर सकता है।
  • क्रिप्टोइकॉनॉमिक्स और प्रूफ-ऑफ-वर्क/प्रूफ-ऑफ-स्टेक का उपयोग करता है, जिससे लेनदेन को सुरक्षित बनाए रखता है।
  • सार्वजनिक ब्लॉकचेन ऐप्स उपयोगकर्ताओं को सुरक्षित रखने के लिए एक तंत्र प्रदान करते हैं, और यह खुला होने के कारण विभिन्न संगठनों द्वारा अपनाया जा सकता है।
  • इसमें गुमनामी की सुविधा होती है, जिससे उपयोगकर्ता अपनी पहचान नहीं प्रकट करते।
  • यह एक विशिष्ट समूह के लिए होता है और इसमें सदस्यों को अनुमति होती है जो लेनदेन को देख सकते हैं।
  • सुरक्षित होने के साथ-साथ, इसमें गोपनीयता भी होती है क्योंकि सभी सदस्यों की पहचान प्रतिष्ठान के अंदर ही रहती है।
  • इसमें सदस्यों को साझा की जाने वाली अनुमतियाँ होती हैं, जिससे सुरक्षा और गोपनीयता का संतुलन बना रहता है।
  • विभिन्न उपयोगकर्ताओं के बीच सहमति के प्रक्रिया के साथ इसमें सदस्यता मिलती है।
  • इसमें बड़े समूहों द्वारा मिलकर निर्मित नेटवर्क होता है, जिसमें सदस्य साझा निर्णय लेते हैं।
  • सुरक्षित और स्केलेबल होने के साथ, यह बड़े पैम्बर के लेनदेन को संभाल सकता है।
  • यह वह ब्लॉकचेन है जिसे सभी देख सकते हैं, लेनदेन कर सकते हैं और उम्मीद कर सकते हैं कि उनका लेनदेन सही है।
  • इसमें क्रिप्टोइकॉनॉमिक्स का साथ होता है, जिसमें प्रूफ-ऑफ-वर्क या प्रूफ-ऑफ-स्टेक का उपयोग होता है जो लेनदेन को सुरक्षित बनाए रखता है।
  • इसमें गुमनामी होती है, जिससे उपयोगकर्ता अपनी पहचान को छुपा सकता है।

(Cryptoeconomics )कृप्टोइकॉनॉमिक्स:

  • यह एक आर्थिक प्रोत्साहन का संयोजन है जिसमें क्रिप्टोग्राफ़िक सत्यापन के साथ प्रूफ-ऑफ-वर्क या प्रूफ-ऑफ-स्टेक का उपयोग होता है।
  • इसे सामान्य रूप से “पूरी तरह से विकेंद्रीकृत” माना जाता है, जिससे सुरक्षितता बढ़ती है।

सार्वजनिक ब्लॉकचेन ऐप्स:

  • इन्होंने उपयोगकर्ताओं को उनके डेवलपर्स से सुरक्षित रखने के लिए एक तंत्र प्रदान किया है, जिससे दिखाया जा सकता है कि डेवलपर्स की अधिकारी सीमा से बाहर हैं।
  • यह खुले होने के कारण विभिन्न संगठनों द्वारा अपनाया जा सकता है, और इसमें तीसरे पक्ष के सत्यापन की आवश्यकता नहीं होती।
  • इसकी गुमनामी ने इसे समर्थकों के बीच लोकप्रिय बना दिया है, जो एक सुरक्षित और खुला मंच प्रदान करता है।

हालांकि, महत्वपूर्ण कंप्यूटिंग शक्ति की आवश्यकता होती है, लेकिन इसमें गोपनीयता की कमी है, और सुरक्षा कमजोर है। विभिन्न उद्योगों में ब्लॉकचेन उपयोग के मामलों के लिए ये महत्वपूर्ण विचार हैं।

  • यह वे ब्लॉकचेन हैं जिन्हें एक इकाई द्वारा प्रबंधित किया जाता है, जिसमें केंद्रीय प्राधिकरण नोड्स को अनुमति देने की निगरानी करता है।
  • इसमें केंद्रीय प्राधिकरण सभी नोड्स को समान अधिकार नहीं देता, लेकिन यह सार्वजनिक ब्लॉकचेन से कम है।
  • Ripple (XRP): एक बिजनेस-टू-बिजनेस वर्चुअल करेंसी एक्सचेंज नेटवर्क, जो निजी ब्लॉकचेन का एक उदाहरण है।
  • हाइपरलेगर: एक ओपन-सोर्स ब्लॉकचेन एप्लिकेशन के लिए एक अम्ब्रेला प्रोजेक्ट, जो भी निजी ब्लॉकचेन का उदाहरण है।
  • निजी ब्लॉकचेन नेटवर्क को अक्सर कारोबारिक स्तर पर नेटवर्क साझाकरण के लिए उच्च गोपनीयता की आवश्यकता होती है।
  • इसमें नियमों का पालन करने के लिए सभी नोड्स को समान अधिकार मिलते हैं, जिससे यह अधिक स्थिर होता है।
  • दोनों ही ब्लॉकचेन के नुकसान हैं, सार्वजनिक ब्लॉकचेन नए डेटा को मान्यता देने में ज्यादा समय लेते हैं और धोखाधड़ी के लिए अधिक संवेदनशील होते हैं।
  • निजी ब्लॉकचेन ज्यादातर केवल कुछ उपयोगकर्ताओं के बीच लेनदेन को पहुंचने की क्षमता रखते हैं, जिससे गोपनीयता बढ़ती है।
  • हर उद्योग में अनुपालन महत्वपूर्ण है, और निजी ब्लॉकचेन अपनी पारिस्थितिकी तंत्र में सभी अनुपालन नियमों का पालन करते हैं।
  • इसके बिना कोई भी तकनीक समय रहते ही विफल हो सकती है।”

Blockchain network, एक सुरक्षित और संप्रेषण-सहीत प्रौद्योगिकी है जो लोगों को विभिन्न प्रकार की लेनदेन को सुरक्षित रूप से करने में मदद करती है। सार्वजनिक ब्लॉकचेन नेटवर्क सभी के लिए खुला होता है जो लेनदेन को देखना और सत्यापित करना चाहते हैं, जबकि निजी ब्लॉकचेन नेटवर्क गोपनीयता और सुरक्षा के उच्च स्तर के साथ केवल चयनित उपयोगकर्ताओं को सीधे आपस में जोड़ता है। इन नेटवर्कों का उपयोग विभिन्न उद्योगों में किया जा रहा है, और वे उच्च स्तर पर गोपनीयता और सुरक्षा सुनिश्चित करने में मदद कर रहे हैं। यह नई दिशा दिखा सकता है जहाँ लोग लेनदेन को विश्वासपूर्वक, सुरक्षित, और सुरक्षित ढंग से कर सकते हैं, बिना किसी वित्तीय माध्यम के साथ।

1. Blockchain network क्या है?

ब्लॉकचेन एक तकनीकी दिशा है जो डेटा को सुरक्षित और तथ्यपूर्णता से रिकॉर्ड करने के लिए डिजिटल ब्लॉकों का उपयोग करती है। इसमें लेनदेनों को सुरक्षित रूप से स्थायी रूप से सजग करने के लिए क्रिप्टोग्राफी का इस्तेमाल होता है।

2. Blockchain network कैसे काम करता है?

ब्लॉकचेन नेटवर्क में लेनदेन ब्लॉक्स में सजग किए जाते हैं और एक ब्लॉक को पिछले ब्लॉक से जोड़कर एक श्रृंखला बनाते हैं। इसके बाद, प्रत्येक ब्लॉक को आधारित क्रिप्टोग्राफिक तकनीकों से सुरक्षित करके नेटवर्क में संग्रहित किया जाता है।

3. क्या ब्लॉकचेन नेटवर्क सुरक्षित है?

हाँ, ब्लॉकचेन नेटवर्क Cryptographic technology का उपयोग करके सुरक्षित है और हैकिंग के खिलाफ मजबूत है।

4. कौन-कौन से उद्योग ब्लॉकचेन नेटवर्क का उपयोग कर रहे हैं?

Finance sector, Healthcare, Supply management, और Government जैसे विभिन्न उद्योग ब्लॉकचेन नेटवर्क का उपयोग कर रहे हैं।

5. ब्लॉकचेन का उपयोग केवल क्रिप्टोकरेंसी में होता है?

नहीं, ब्लॉकचेन का उपयोग केवल क्रिप्टोकरेंसी के लिए नहीं होता है, बल्कि यह विभिन्न क्षेत्रों में भी किया जा रहा है, जैसे कि संगठनों के बीच सुरक्षित डेटा साझाकरण

6. ब्लॉकचेन नेटवर्क किस तरह से हैकिंग से बचाता है?

ब्लॉकचेन में तथ्यपूर्णता को सुरक्षित करने के लिए क्रिप्टोग्राफिक तकनीकें होती हैं जो अनधिकृत पहुँच को रोकती हैं।

7. ब्लॉकचेन नेटवर्क की स्केलेबिलिटी में समस्या क्यों होती है?

ब्लॉकचेन नेटवर्क में ट्रांजैक्शन स्केलेबिलिटी की समस्या तब होती है जब बहुत अधिक लोग एक साथ सहमति प्रक्रिया में भाग लेने का प्रयास करते हैं, जिससे नेटवर्क का ढेर होने का खतरा होता है।

8. ब्लॉकचेन नेटवर्क का उपयोग सरकारों द्वारा क्यों किया जा रहा है?

सरकारें ब्लॉकचेन नेटवर्क का उपयोग ट्रांजैक्शन की प्रतिफलन, आदान-प्रदान की प्रशासनिक सुविधा, और ई-गरीवेंस को बढ़ावा देने के लिए कर रही हैं।

9. क्या ब्लॉकचेन नेटवर्क कम्प्यूटिंग की तकनीक है?

हाँ, ब्लॉकचेननेटवर्क कम्प्यूटिंग की एक तकनीक है जो डेटा को एक सुरक्षित रूप से तथ्यपूर्ण बनाए रखने के लिए उपयोग होती है।

10.ब्लॉकचेन नेटवर्क की गुमनामी कैसे काम करती है?

ब्लॉकचेन नेटवर्क गुमनामी के माध्यम से प्रयोक्ताओं की पहचान को सुरक्षित रखती है, जिससे उनकी गतिविधियों को निजी रूप से बनाए रखा जा सकता है।

अच्छी तरह देसी भाषा में समझ के लिए वेबसाइट के अलग ब्लॉग को पढ़िए, कुछ काम और गलतिया हो तो कमेंट कर के जरुर बताइये।
ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी से जुड़े सारे साथियो को प्रश्नों का उत्तर आपको सरल और सहज भाषा में देने का भरपुर प्रयास किया जाएगा..
हमसे सोशल मीडिया पर जुड़े के लिए दिए गए लिंक पर क्लिक करें | आपका कोई सवाल हो तो आप सोशल मीडिया पर पुछ सकते हैं
FB – https://www.facebook.com/cryptoeducare
Instagram – https://www.instagram.com/crypto_educare/
LinkedIn – https://www.linkedin.com/company/crypto-educare
Twitter – https://twitter.com/crypto_educare

Leave a Reply